India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

हम पूरी तरह से तैयार, महीनों तक लड़ेंगे जंग, इजराइल के खिलाफ हमास का ऐलान, बंधकों पर रखी शर्तें,लंबे समय तक चलने वाले युद्ध के लिए पूरी तरह से तैयार

Israel-Hamas War:  पट्टी को लेकर इजराइल का ऑपरेशन कब तक चलेगा, इसका कोई अंदाजा नहीं है। क्योंकि हमास ने ऐलान किया है, कि उसके पास इतने हथियार हैं, कि वो इजराइल से लंबी लड़ाई लड़ सकता है। हमास का मानना है कि वह इजरायली सेना को युद्धविराम समझौते पर सहमत होने के लिए मजबूर कर सकता है और गाजा पट्टी में लंबे समय तक चलने वाले युद्ध के लिए पूरी तरह से तैयार है। एक रिपोर्ट में हमास के दो परिचित लोगों का हवाला देते हुए इसका दावा किया गया है।

हमास के कार्यकर्ताओं ने उन्होंने हथियार, मिसाइलें, भोजन और चिकित्सा आपूर्ति का भंडार जमा कर लिया है। उनके लड़ाके गाजा सिटी के नीचे महीनों तक जीवित रह सकते हैं, जो जमीन के नीचे खुदी हुई सुरंगों की एक भूलभुलैया है। हमास का मानना है, कि यह शहरी गुरिल्ला रणनीति के साथ इजरायली बलों को धूल चटा सकता है। गाजा स्थिति इस आतंकवादी समूह का यह भी मानना है, कि नागरिक हताहतों की संख्या बढऩे से गाजा में अपना अभियान बंद करने के लिए इजराइल पर अंतरराष्ट्रीय दबाव पड़ रहा है। उसका यह भी मानना है, कि इस तरह के समझौते से उन्हें इजरायली बंधकों के बदले हजारों फिलिस्तीनी कैदियों की रिहाई सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी।

यानि, एक तरफ हमास खुद कहता है, कि इजराइली हमले में अभी तक 9 हजार से ज्याद लोग मारे चुके हैं, जबकि दूसरी तरफ ये हमास, इजराइली बंधकों के बदले अपने आतंकियों की रिहाई चाहता है, भले ही गाजा में हजारों-हजार बेगुनाह बेमौत मारे जाएं। कतर की मध्यस्थता में बंधकों को लेकर की गई वार्ता के दौरान हमास के चार अधिकारियों ने अप्रत्यक्ष रूप से इजरायल और अमेरिका को बताया, कि वह बंधकों के बदले कैदियों की रिहाई को प्राथमिकता दे रहा है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है, कि गाजा पट्टी के 41 किलोमीटर क्षेत्र में हमास ने करीब 500 किलोमीटर की मकड़ी की जाल की तरह सुरंगों का निर्माण कर रखा है और ये सुरंगे, जमीन से करीब 80 मीटर तक गहरी हैं। लिहाजा, इन सुरंगों के जरिए हमास, इजराइली सैनिकों को फंसाना चाहता है।

हमास के एक्सटर्नल रिलेशन के बेरूत स्थित प्रमुख, अली बराका ने कहा, कि हमास ने अपनी सैन्य क्षमताओं, विशेषकर अपनी मिसाइलों में सुधार किया है। अब इसमें 230 किमी की अधिकतम सीमा तक मार करने वाले रॉकेट हैं। आपको बता दें, कि हमास ने सबसे पहले 7 अक्टूबर को सुबह करीब साढ़े 6 बजे 20 मिनट के अंदर दक्षिणी इजराइल के ऊपर 5 हजार से ज्यादा रॉकेट दागे थे। इसके अलावा, हमास के आतंकी जमीन और हवाई मार्ग से भी इजराइली सीमा में घुसे थे और बुरी तरह से मारकाट मचाई थी। हमास के हमले में 1400 से ज्यादा इजराइली नागरिक मारे गये। वहीं, हमास ने 239 लोगों को बंधक भी बना लिया।

जिसके बाद से इजराइल लगातार गाजा पट्टी पर हमले कर रहा है और इजराइली हमले में करीब 9 हजार फिलिस्तीनियों के मारे जाने की रिपोर्ट हमास नियंत्रित गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है। वहीं, इजराइल ने गाजा पट्टी की घेराबंदी काफी सख्त कर दी है, जिससे करीब 21 लाख लोगों तक मानवीय सहायता काफी मुश्किल से पहुंच पा रही है।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *