India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

Loksabha election result: राज्य के इस लोकसभा क्षेत्र में सर्वाधिक राउंड, सुबह आठ बजे शुरू होगी काउंटिंग

जयपुर.Loksabha election result: मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि राज्य के सभी 25 लोकसभा क्षेत्रों का परिणाम 4 जून को आएगा। साथ ही, बागीदौरा विधानसभा उपचुनाव के नतीजे भी घोषित किए जाएंगे। प्रदेश में 29 स्थानों पर सुबह 8 बजे से मतगणना शुरू होगी। राज्य में मतगणना के संबंध में सभी तैयारियों पूरी कर ली गईं हैं। पर्याप्त संख्या में मतगणना कार्मिकों की उपलब्धता सुनिश्चित कर उनको प्रशिक्षित किया जा चुका है। गुप्ता ने बताया कि सबसे पहले सुबह 8 बजे से पोस्टल बैलेट के माध्यम से डाले गए मतों की गणना प्रारंभ की जाएगी, इसके लिए कुल 63 कक्ष बनाए गए हैं। इसके बाद 8.30 बजे से ईवीएम के मतों की गिनती शुरू की जाएगी, इसके लिए कुल 235 कक्ष होंगे। ईवीएम के मतों की गणना के लिए 2,713 टेबल्स और पोस्टल बैलेट एवं ईटीबीपीएस से डाले गए मतों की गणना के लिए 841 टेबल्स लगाई जाएंगी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी गुप्ता ने बताया कि सभी 25 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए मतगणना कुल 4,033 राउंड में होगी। सबसे अधिक कुल 206 राउंड राजसमंद और सबसे कम कुल 143 राउंड बीकानेर लोकसभा क्षेत्र में होंगे। मतों की गिनती विधान सभा क्षेत्रवार होगी, जोधपुर लोकसभा क्षेत्र के जोधपुर विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम 13 राउंड और राजसमंद लोकसभा क्षेत्र के मेड़ता विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 28 राउंड की मतगणना होगी।

लोकसभा क्षेत्रवार कुल राउंड

  • राजसमंद : 206
  • झालावाड़-बारां : 186
  • जालोर : 181
  • झुंझुनूं : 177
  • करौली-धौलपुर : 169
  • चित्तौड़गढ़ : 169
  • बांसवाड़ा : 167
  • उदयपुर : 166
  • पाली : 165
  • भीलवाड़ा : 163
  • जयपुर ग्रामीण : 161
  • दौसा : 158
  • चूरू : 157
  • कोटा : 156
  • जोधपुर : 155
  • गंगानगर : 148
  • अलवर : 153
  • नागौर : 153
  • सीकर : 152
  • जयपुर : 151
  • बाड़मेर : 151
  • टोंक-सवाई माधोपुर : 150
  • भरतपुर : 148
  • अजमेर : 148
  • बीकानेर : 143

ईटीपीबीएमएस की प्री-काउंटिंग के लिए 469 टेबल्स

गुप्ता ने बताया की भारत सेवा मतदाता निर्वाचन आयोग के इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट मैनेजमेंट सिस्टम (इटीपीबीएमएस) के द्वारा मतदान कर रहे हैं। अब तक 70 हजार से अधिक मत डाले गए हैं। 4 जून को प्रातः 8 बजे से पहले संबंधित आरओ को प्राप्त होने वाले ईटीबीपी को मतगणना में शामिल किया जा सकेगा। ईटीपीबीएमएस की प्री-काउंटिंग के लिए 35 कक्ष बनाए गए हैं और 469 टेबल्स लगाई जाएंगी। झुंझुनूं लोकसभा क्षेत्र के लिए सर्वाधिक 84, अलवर के लिए 56, सीकर के लिए 53 और जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र के लिए 48 टेबल्स लगाई जाएंगी।

3,550 माइक्रो ऑब्जर्वर, 1,200 एआरओ

मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री गुप्ता ने बताया कि मतगणना के लिए रिटर्निंग अधिकारी, उप निर्वाचन अधिकारी, काउंटिंग सुपरवाईजर, काउंटिंग असिस्टेंट, काउंटिंग स्टाफ और माइक्रो ऑब्जर्वर सहित कुल 13 हजार से अधिक कार्मिकों की नियुक्ति की गई है। ईवीएम की मतगणना टेबल पर काउंटिंग सुपरवाइजर, काउंटिंग असिस्टेंट, काउंटिंग स्टाफ तथा एक माइक्रो ऑब्जर्वर रहेंगे। इसी प्रकार, पोस्टल बैलेट की गणना टेबल पर एक सहायक रिटर्निंग अधिकारी, एक काउंटिंग सुपरवाइजर, दो काउंटिंग असिस्टेंट तथा एक माइक्रो ऑब्जर्वर मौजूद रहेंगे। मतगणना टेबल पर अभ्यर्थी के काउंटिंग एजेंट भी रहेंगे। मतगणना टेबल्स के लिए करीब 3,550 माइक्रो ऑब्जर्वर और 1,200 से अधिक सहायक रिटर्निंग अधिकारी (एआरओ) नियुक्त किए गए हैं। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा राज्य में 56 मतगणना पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं।

मतगणना कक्षों में बिना अनुमति नहीं मिलेगा प्रवेश
गुप्ता ने बताया कि मतगणना स्थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों, पुलिस आयुक्त एवं पुलिस अधीक्षकों को मतगणना केंद्र में सुरक्षा मापदंडों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। सभी मतगणना स्थलों पर त्रि-स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था होगी। किसी भी व्यक्ति को बिना अनुमति के कमरे में प्रवेश करने या छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी। आयुक्तालय जयपुर क्षेत्र में 5, जिला अजमेर और भीलवाड़ा में 3-3 तथा सभी मतगणना वाले जिलों में 2-2 आरएसी कंपनी/प्लाटून तैनात रहेंगी। इसके साथ ही, जिन जिलों में मतगणना केंद्र नहीं हैं, वहां भी 1-1 आरएसी कंपनी/प्लाटून तैनात रहेंगी।

मतगणना प्रक्रिया की 360 डिग्री वीडियोग्राफी

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिला निर्वाचन अधिकारियों, पुलिस आयुक्त एवं पुलिस अधीक्षकों को मतगणना केंद्र में सुरक्षा मापदंडों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। मतगणना के दिन को पूरे राज्य में सूखा दिवस घोषित किया गया है। मतगणना से पहले सभी सीयू, वीवीपैट मशीनों और संबंधित दस्तावेजों को स्ट्रॉन्ग रूम से लेकर काउंटिंग हॉल तक लाने और मतगणना पश्चात वापस स्ट्रॉन्ग रूम तक ले जाने की कार्यवाही की निर्बाध सीसीटीवी कवरेज सुनिश्चित की जाएगी। इस अवधि की सीसीटीवी कवरेज उम्मीदवार अथवा उनके एजेंट मतगणना हॉल में टीवी/ मॉनिटर पर देख सकेंगे। काउंटिंग हॉल में संपूर्ण मतगणना प्रक्रिया की 360 डिग्री सीसीटीवी कैमरा या वीडियोग्राफी से मय दिनांक और समय की मोहर के साथ कवरेज की जाएगी।

सभी मतगणना केंद्रों पर गर्मी से बचाव के इंतजाम

गुप्ता ने बताया कि भीषण गर्मी को देखते हुए सभी राज्य के सभी 29 मतगणना केंद्रों पर कूलिंग की समुचित व्यवस्था और पूरे मतगणना स्थल पर बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। सभी मतगणना कक्षों में एसी और कूलर लगाए जाएंगे, कुल 700 से अधिक एसी-कूलर लगेंगे। मतगणना कार्मिकों और काउंटिंग एजेंट्स की सुविधा के लिए परिसर में चिकित्सकों सहित मेडिकल टीम रहेंगी। परिसर के बाहर भी एंबुलेंस तैनात रहेगी। प्रत्येक मतगणना कक्ष के बाहर पेयजल कैंपर की व्यवस्था की गई है तथा पानी पिलाने के लिए कार्मिकों की नियुक्ति की गई है। सभी मतगणना केन्द्रों पर मीडिया सेंटर में मीडियाकर्मियों के लिए भी समुचित व्यवस्था की जाएगी।

मतगणना स्थल पर ट्रेंड-टीवी पर भी जारी होंगे रुझान

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अधिकृत मीडियाकर्मियों के लिए मतगणना केंद्र पर एक पृथक कक्ष में मीडिया सेंटर बनाया गया है, जहां पर टेलीफोन, कम्प्यूटर एवं इंटरनेट आदि की सुविधा उपलब्ध रहेगी। मतगणना स्थल पर मीडियाकर्मियों को मतगणना के नवीनतम रूझान एवं परिणाम से अवगत कराने के लिए मीडिया सेंटर में बड़ी एलईडी स्क्रीन पर आयोग की आईटी एप्लिकेशन ट्रेंड-टीवी के माध्यम से प्रदर्शित करने की व्यवस्था की गयी है। इससे मीडियाकर्मियों को एक ही स्थान पर मतगणना के नवीनतम रूझान एवं परिणाम उपलब्ध होंगे। इसके अतिरिक्त राज्य के आमजन को लोकसभा आम चुनाव की मतगणना के रूझान एवं परिणाम से अवगत कराने के लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी की वेबसाइट (https://ceorajasthan.nic.in/) पर भी लिंक दिया गया है। मतगणना की समाप्ति के पश्चात प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र का आधिकारिक परिणाम भी विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगा। निर्वाचन आयोग के मोबाइल एप ‘वोटर हेल्पलाइन एप’ पर भी मतगणना के रूझान एवं परिणाम उपलब्ध रहेंगे।

राज्य में कुल 62.10 प्रतिशत मतदान

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि लोकसभा आम चुनाव 2024 के तहत राजस्थान के सभी 25 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में करीब 62.10 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। ईवीएम के माध्यम से 61.53 प्रतिशत और पोस्टल बैलेट के माध्यम से 0.57 प्रतिशत मतदान हुआ है। वर्ष 2019 के मुकाबले 3 लोकसभा क्षेत्रों बाड़मेर, कोटा और बांसवाड़ा के मतदान प्रतिशत में वृद्धि दर्ज हुई है। इस वर्ष बाड़मेर लोकसभा क्षेत्र में सर्वाधिक और करौली-धौलपुर लोकसभा क्षेत्र में सबसे कम मतदान हुआ है। प्रथम चरण के तहत 12 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 19 अप्रैल को हुए मतदान के दौरान कुल 58.28 प्रतिशत मतदान हुआ। इसमें पोस्टल बैलेट के माध्यम से हुआ 0.64 प्रतिशत मतदान भी शामिल है। द्वितीय चरण के तहत 13 लोकसभा क्षेत्रों में 26 अप्रैल को हुए मतदान के दौरान 65.52 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। ईवीएम के माध्यम से 65.03 प्रतिशत और पोस्टल बैलेट के माध्यम से 0.49 फीसदी मतदान हुआ है। बागीदौरा विधानसभा क्षेत्र के लिए हुए उपचुनाव में 77.50 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

होम वोटिंग के तहत रिकॉर्ड 98.39 प्रतिशत मतदान

गुप्ता ने बताया कि 85 वर्ष एवं अधिक आयु के वृद्धजन और 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगता वाले मतदाताओं के लिए आयोग की ओर से होम वोटिंग की सुविधा प्रदान की गई थी। प्रदेश में रिकॉर्ड 98.39 प्रतिशत मतदान हुआ। सभी 25 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 73,799 पात्र मतदाताओं ने घर से मतदान किया। इनमें 56,691 बुजुर्ग तथा 17,108 दिव्यांग मतदाता शामिल हैं। होम वोटिंग के तहत प्रथम चरण 98.30 प्रतिशत और द्वितीय चरण में 97.42 प्रतिशत मतदान हुआ है।

3.75 लाख से अधिक पोस्टल बैलेट

गुप्ता ने बताया कि पोस्टल बैलेट के माध्यम से कुल 3,75,473 मत डाले गए हैं। होम वोटिंग के तहत 85 वर्ष से अधिक वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांग तथा आवश्यक सेवाओं से जुड़े मतदाताओं द्वारा कुल 75,554 और चुनाव ड्यूटी में कार्यरत कार्मिकों द्वारा कुल 2,26,470 मत डाले गए हैं। साथ ही, अब तक कुल 72,449 सेवा मतदाताओं के इलेक्ट्रॉनिकली पोस्टल बैलेट प्राप्त हुए हैं।

आचार संहिता उल्लंघन की 10 पोस्ट्स टेक डाउन

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार, लोकसभा आम चुनाव 2024 की आचार संहिता के दौरान राजस्थान निर्वाचन विभाग द्वारा नवाचार करते हुए इस बार पुलिस विभाग के साथ मिलकर फेक न्यूज के पर शिकंजा कसा। राज्य स्तर पर पुलिस विभाग के आईजी रैंक के अधिकारी को फेक न्यूज मॉनिटरिंग कमेटी का नोडल बनाया गया तथा प्रभावी एवं त्वरित मॉनिटरिंग के लिए सभी जिलों में कुल 79 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी को नोडल नामित किया गया। सोशल मीडिया पर आचार संहिता उल्लंघन से जुड़ी 10 पोस्ट्स पर कार्रवाई करते हुए उन्हें टेक डाउन करवाया गया। साथ ही, 5 प्रकरणों में पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई। लोकसभा आम चुनाव 2024 के मद्देनजर राज्य के विभिन्न पुलिस थानों में आचार संहिता उल्लंघन सहित अन्य प्रकरणों मे कुल 18 एफआईआर दर्ज की गईं हैं।

सी-विजिल पर 6,549 शिकायतें मिलीं, 3 एफआईआर

गुप्ता ने बताया की राज्य में सी-विजिल एप पर आचार संहिता उल्लंघन से जुड़ी कुल 6,549 शिकायतें प्राप्त हुई। इनमें से सही पाई गई सभी 3,521 शिकायतों का निर्धारित समयावधि में निस्तारण कर दिया गया। अलवर, झुंझुनूं और चित्तौड़गढ़ में सी-विजिल पर मिली शिकायतों के आधार पर 3 प्रकरणों में एफआईआर भी दर्ज की गई है। साथ ही, एनजीएसपी पर आचार संहिता के लागू होने के बाद से कुल 11,189 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिनमें से 97 प्रतिशत का त्वरित निस्तारण कर दिया गया।

रिकॉर्ड 1,255 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की जब्ती
गुप्ता ने बताया कि चुनाव में धन-बल का दुरुपयोग रोकने के लिए प्रदेशभर में 1 मार्च से अब तक 1,255.26 करोड़ रुपये मूल्य की नकदी, शराब, ड्रग्स सहित अन्य अवैध सामग्री जब्ती की गई है।

सोशल मीडिया पर मतदाता जागरूकता में राजस्थान देश में अव्वल

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी सोशल मीडिया रैंकिंग में राजस्थान ने देश में पहला स्थान पर है। आयोग द्वारा अप्रैल माह में सोशल मीडिया (एक्स, इंस्टाग्राम, फेसबुक और यूट्यूब) के प्रदर्शन के आधार पर जारी रैंकिंग में राजस्थान और झारखंड ने संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं। सीईओ राजस्थान के एक्स, इंस्टाग्राम, फेसबुक और यूट्यूब अकाउंट्स पर अप्रैल में माह में करीब 11 लाख इम्प्रेशन मिले हैं। सबसे अधिक 6.83 लाख इम्प्रेशन एक्स पर मिले हैं।

सुगम मतदान के लिए कई नवाचार

गुप्ता ने बताया कि राजस्थान में पोस्टल बड्डी पोर्टल, क्यू मैनेजमैंट और मतदान के प्रति प्रोत्साहन के लिए डिजिटल प्रमाण-पत्र देने सहित कई नवाचार किए गए हैं। प्रदेश के मतदाताओं के घर-घर जाकर मतदाता पर्ची और मतदान मार्गदर्शिका वितरित की गई।

राज्य के मतदाताओं का धन्यवाद

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने लोकसभा चुनाव-2024 में भाग लेने के लिए मतदाताओं, राजनैतिक दल एवं उम्मीदवारों, मतदान कर्मियों एवं एजेंसियों, सुरक्षाकर्मियों, मीडिया एवं मतदाताओं तक जानकारी पहुंचाने में भागीदार संस्थाओं का धन्यवाद दिया है। गुप्ता ने कहा कि लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व में भाग लेने एवं शांतिपूर्ण और सफलतापूर्वक चुनाव संपन्न कराने के लिए मैं सभी को धन्यवाद देता हूं।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *