India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

उपराष्ट्रपति धनखड़ ने खरगे को दिया मिलने का न्योता, बोले सभापति धनखड़ से नहीं मिल सकता, दिल्ली से बाहर हूं

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने उपराष्ट्रपति सह राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने लिखा है की वह उनसे नहीं मिल पाएंगे क्योंकि वह इस समय दिल्ली से बाहर हैं। सभापति धनखड़ को लिखे पत्र में खरगे ने कहा कि सभापति सदन का संरक्षक होता है l उन्हें सदन की गरिमा बनाए रखने, संसदीय विशेषाधिकारों की रक्षा करने और संसद में बहस, चर्चा और उत्तर के माध्यम से अपनी सरकार को जवाबदेह रखने के लोगों के अधिकार की रक्षा करने में आगे रहना चाहिए।

पीठासीन अधिकारियों का कठोरता से मूल्यांक

खरगे ने राज्यसभा में विधेयकों पर पर्याप्त चर्चा न होने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि ये बेहद दुखद है। इतिहास बिना बहस के पारित किए विधेयकों और सरकार से जवाबदेही की मांग न करने के लिए पीठासीन अधिकारियों का कठोरता से मूल्यांकन करेगा।

सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

खरगे ने पत्र में संसद की सुरक्षा में चूक मामले का भी उल्लेख किया है। जिसमें उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह के बयान का जिक्र किया। खरगे ने कहा कि देश के गृह मंत्री चालू संसद सत्र के बावजूद एक टीवी चैनल पर ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर बयान देते हैं, लेकिन सदन में आकर बयान नहीं देते। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। साथ–साथ लोकतंत्र के मंदिर को अपवित्र करने जैसा कृत्य है। उन्होंने पूरी सरकार पर संसद की अवहेलना और उपेक्षा करने का भी आरोप लगाया है।

दिल्ली लौटने के बाद मिलने की बात कही 

सभापति को लिखे पत्र में खरगे ने कहा कि उनसे मिलना उनका सौभाग्य होगा। सभापति के निमंत्रण पर मुलाकात करना उनका कर्तव्य है। दिल्ली लौटने के बाद वह उनकी सुविधा के मुताबिक मुलाकात करने का हरसंभव प्रयास करेंगे। उन्होंने नववर्ष 2024 की अग्रिम शुभकामनाएं भी दीं।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *