India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

Drone Attack: ईरान से किया था भारत आ रहे तेल टैंकर पर अरब सागर में हमला, अमेरिका  ने किया ये बड़ा दावा

नई दिल्ली. जापान के स्वामित्व वाले एक केमिकल टैंकर  पर शनिवार को अरब सागर में भारत के नजदीक ड्रोन हमला किया गया था। अब अमेरिका के रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने दावा किया है कि यह ड्रोन हमला ईरान से किया गया है। पहले यह माना जा रहा था कि यह हमला हूती विद्रोहियों ने किया है क्योंकि हाल के समय में अरब सागर और हिंद महासागर में कई जहाजों को हूती विद्रोहियों ने निशाना बनाया है, लेकिन अब अमेरिका ने दावा किया है कि शनिवार को जो हमला हुआ था, वह ईरान से हुआ था।

भारतीय नौसेना ने दी टैंकर को सुरक्षा
तेल टैंकर पर हमला शनिवार सुबह करीब 10 बजे हुआ। टैंकर पर सवार चालक दल के सभी सदस्य सुरक्षित हैं, जिनमें करीब 20 भारतीय भी शामिल हैं। ड्रोन हमले से टैंकर पर आग लग गई थी, लेकिन इस पर काबू पा लिया गया है। इससे ज्यादा नुकसान भी नहीं हुआ। जिस वक्त टैंकर पर हमला हुआ, वह भारत की तटीय सीमा से करीब 200 नॉटिकल माइल्स की दूरी पर था। हमले की सूचना मिलते ही भारतीय नौसेना ने तुरंत प्रतिक्रिया दी और एक एयरक्राफ्ट टैंकर की सुरक्षा के लिए रवाना किया। साथ ही भारतीय तटरक्षक बलों के जहाज आईसीजीएस को भी टैंकर की सुरक्षा के लिए रवाना किया गया।

ये भी पढ़ें: Drone Attack: लाल सागर में एक और जहाज पर किया ड्रोन से हमला, लगा हुआ था भारत का झंडा, हूती विद्रोहियों ने बनाया निशाना

इस्राइल से संबंधित है जहाज
पेंटागन ने बताया कि एमवी केम प्लूटो जहाज लाइबेरियाई झंडे के तले  संचालित हो रहा था, लेकिन इसकी मालिक एक जापानी कंपनी है। एक मेरीटाइम सिक्योरिटी फर्म का दावा है कि जिस जहाज पर हमला हुआ, वह इस्राइल से संबंद्ध था और सऊदी अरब से भारत आ रहा था। दरअसल जो कंपनी जहाज का संचालन कर रही है, वह इस्राइल के शिपिंग टाइकून इदान ओफेर से संबंधित है। बीते महीने इस्राइल से ही संबंधित एक जहाज पर हमला हुआ था। दरअसल जब से इस्राइल हमास का युद्ध शुरू हुआ है, तब से लाल सागर इलाके में कार्गो वेसल, तेल टैंकरों पर हमले की घटनाएं ज्यादा हो रही हैं। हूती विद्रोहियों ने इस दौरान 100 से ज्यादा ड्रोन हमले किए हैं, जिनमें 35 विभिन्न देशों के कार्गो वेसल और तेल टैंकरों को निशाना बनाया गया है।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *