India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

Pakistan Election: पाकिस्तान में आम चुनाव के लिए वोटिंग आज, 6.50 लाख सुरक्षाकर्मी तैनात

Nawaz Sharif

इस्लामाबाद. Pakistan Election: पाकिस्तान आम चुनाव के लिए आज मतदान होगा। पाकिस्तानी चुनावी प्रक्रिया पर 100 विदेशी पर्यवेक्षक नजर बनाए हुए हैं। पाकिस्तान के आम चुनाव में पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने की उम्मीद है। इमरान खान के जेल में होने और चुनाव चिन्ह पर विवाद के बीच नवाज शरीफ पूरी तरह से फायदे में हैं। PPP के बिलावल भुट्टो का पंजाब में ज्यादा दखल नहीं है। यदि शरीफ जीते तो वह चौथी बार PM बनेंगे। पाकिस्तान में कुल 90,675 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं।

ECP ने बताया मतदाताओं से जुड़े आंकड़े; विदेशी पत्रकारों की पैनी नजर

पाकिस्तान चुनाव आयोग (ECP) ने कहा, आम चुनाव में 12.85 करोड़ से अधिक पंजीकृत मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। अशांत बलूचिस्तान में अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है।  चुनाव आयोग के अनुसार, नेशनल असेंबली सीटों के लिए 5121 उम्मीदवारों में से कुल 12,85,85,760 पंजीकृत मतदाता वोट देने के पात्र हैं। इनमें 4,807 पुरुष, 312 महिला और दो ट्रांस-जेंडर प्रत्याशी शामिल हैं। चार प्रांतीय विधानसभाओं के लिए 12,695 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें 12,123 पुरुष, 570 महिलाएं और दो ट्रांस-जेंडर शामिल हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त सिकंदन सुल्तान रजा ने बताया कि देश में 100 से ज्यादा विदेशी पर्यवेक्षक व विदेशी पत्रकार चुनाव कवर करने आए हैं।

Jal Jeevan Mission: CM जल जीवन मिशन को लेकर कही ये बड़ी बात, अनियमितता बरतने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

हाई अलर्ट पर है अस्पताल

पाकिस्तान में नेशनल असेंबली और प्रांतों के चुनाव के लिए 6.50 लाख सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। बलूचिस्तान पंजगुर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी (SSP) अब्दुल्ला जहरी ने कहा कि आतंकी चुनाव प्रत्याशियों को इसलिए निशाना बना रहे हैं ताकि लोग मतदान केंद्रों तक न पहुंचें। इसे लेकर देश में सुरक्षा व्यवस्था और सख्त कर दी है। पाकिस्तान के अस्पतालों को किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए 7 से 9 फरवरी तक हाई अलर्ट पर रखा है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा विनियमन और समन्वय मंत्रालय द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार, डॉक्टरों, नर्सों और अन्य कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं।

हिंसक घटनाओं के डर में मतदान कम रहने का अंदेशा

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में चुनाव को सिर्फ सेना की पसंद के लोगों को चुनने का माध्यम बताया जा रहा है। जनता इसे नाटक बता रही है। वहीं, शहरी इलाकों के ज्यादातर वोटरों का मानना है कि दूर-दराज में निष्पक्ष चुनाव की उम्मीद भी नहीं की जा सकती है, क्योंकि चुनाव बैलेट पेपर पर हो रहा है। पाकिस्तान में तमाम सशस्त्र समूह सक्रिय हैं, जो खासतौर पर खैबर पख्तूनख्वाह और बलोचिस्तान जैसे प्रदेशों में हिंसक घटनाओं के डर में मतदान कम रहने का अंदेशा है।

चुनाव की जानकारी के लिए एक पोर्टल लॉन्च

चुनाव आयोग और पाकिस्तान की अंतरिम सरकार के मुताबिक पूरे देश में तमाम चुनौतियों के बीच 26 करोड़ बैलेट पेपरों का वितरण पूरा हो चुका है। अंतरिम सरकार के सूचना मंत्री ने बताया कि चुनाव की जानकारी के लिए एक पोर्टल लॉन्च किया है। इससे हर जगह चुनाव की स्थिति के बारे में सटीक जानकारी मिलेगी।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *