India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

Rajasthan update: अचानक राजस्थान पुलिस के ‘सिंघम’  पहुंचे आरएलपी एमएलए हनुमान बेनीवाल, आखिर क्या है माजरा ?

RLP MLA Hanuman Beniwal

जयपुर. Rajasthan update : राजस्थान पुलिस के सिंघम नाम से पहचान बनाने वाले IPS दिनेश एमएन से RLP के एमएलए हनुमान बेनीवाल की मुलाकात चर्चा का विषय बनी हुई है। उन्होंने पुलिस के दो आला अफसरों से पुलिस मुख्यालय में मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने पुलिस महानिदेशक यूआर साहू और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (अपराध) दिनेश एमएन से मुलाक़ात की। बेनीवाल ने इन दोनों टॉप अफसरों से मुलाक़ात करने की तस्वीरें और मिलने की वजह अपने सोशल मीडिया हैंडलर्स के ज़रिये आम लोगों के साथ शेयर भी की।

खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल ने बताया कि जयपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में उन्होंने पुलिस महानिदेशक यूआर साहू से मिलकर हाल ही में हुए यश नायक हत्याकांड से जुड़े मामले में बात की। उन्होंने डीजीपी को शिकायत करते हुए बताया कि इस मामले में दिवंगत के पिता द्वारा पुलिस का सहयोग नहीं मिलने पर खुद के स्तर से ही 14 दिनों तक तलाश करने, जिला बाल कल्याण समिति द्वारा SP को इस मामले में लिखे पत्र सहित प्रकरण को लेकर विस्तृत चर्चा की।बेनीवाल ने बताया कि DGP को इस मामले में एसपी और मानव तस्करी सेल की लापरवाही और गैर जिम्मेदारी से अवगत करवाया है।

साथ ही, राज्य स्तर के IG रैंक के अधिकारी के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन करके जांच करवाने का आग्रह किया है। DGP से चर्चा के दौरान बेनीवाल ने अजमेर रेंज आईजी और नागौर एसपी का अपराधियों के विरुद्ध ढुलमुल रवैए से जिले और रेंज में बढ़ते अपराधों के मामलों से भी उन्हें अवगत करवाया।

ADG दिनेश एमएन से भी मिले हनुमान

RLP विधायक हनुमान बेनीवाल पुलिस मुख्यालय में राजस्थान पुलिस के ADG क्राइम दिनेश एमएन से भी मुलाक़ात की। दोनों ने कानून व्यवस्था को लेकर विस्तृत चर्चा की। बेनीवाल ने बताया कि उन्होंने दिनेश एमएन से नागौर और कुचामन-डीडवाना ज़िलों के साथ ही अजमेर रेंज की कानून व्यवस्था से जुड़े कई महत्वपूर्ण मामलों और विषयों को लेकर चर्चा की।

इनका पनप रहा संगठित गिरोह

विधायक बेनीवाल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा को एक पत्र के ज़रिए यश नायक हत्याकांड के मामले में प्रशासन के समक्ष हुए समझौते के क्रम में दिवंगत यश नायक के परिजनों को 50 लाख का आर्थिक पैकेज देने, संविदा पर नौकरी देने और नगरपरिषद क्षेत्र में भूखंड देने की बात को जल्द पूरा करने की बात कही। बेनीवाल ने CM को को पत्र में यह भी लिखा कि यश नायक के गायब होते ही यह जानकारी सामने आ गई कि मुख्य आरोपी और कुकर्मियों के संगठित गिरोह का यह कृत्य हो सकता है।

ऐसे में समय रहते पुलिस यश के साथ रहने वाले बच्चों की काउंसलिंग करवाती तो समय पर पूरी जानकारी सामने आती और शायद यश बच जाता। लेकिन जिला पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया।बेनीवाल ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में पूरे मामले की जांच SOG अथवा प्रदेश स्तर से आईजी रैंक के अफसर के नेतृत्व में विशेष टीम बनाकर करवाने की बात कही।

डंपर चोरी का गिरोह सक्रिय

बेनीवाल ने डीजीपी को नागौर तथा डीडवाना -कुचामन जिले में डंपर चोरी की एक दर्जन से अधिक वारदातें से अवगत करवाया। बेनीवाल ने कहा कि डंपर और ट्रेलर चुराने वाली मेवात क्षेत्र की गैंगों द्वारा एक के बाद एक चोरी की वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। डंपर में GPS सिस्टम लगे होने तथा नागौर व डीडवाना क्षेत्र से डंपर चोरी होने के बाद उन डंपर का दर्जनों टोल नाकों से गुजरने व मोटर मालिको की ओर से चोरी की सूचना समय पर पुलिस को देने के बावजूद पुलिस ऐसे गिरोह को पकड़ने में नाकाम रही।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *