India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

भजनलाल कैबिनेट की पहली बैठक, लिया ये बड़ा फैसला, राजस्थान RAS मुख्य परीक्षा स्थगित; पिछली सरकार छह माह में किए फैसलों की होगी समीक्षा

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के मंत्रिमंडल ने गुरुवार को पहली बैठक में आरएएस की मुख्य परीक्षा स्थगित करने का निर्णय लिया है। साथ ही पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के आखिरी छह माह में लिए फैसलों की समीक्षा करने का भी फैसला किया।कैबिनेट मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने मंत्रिमंडल की पहली बैठक के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि बैठक में पिछली कांग्रेस सरकार के आखिरी छह महीनों में लिए फैसलों की समीक्षा करने का निर्णय लिया गया।

तीन माह में समीक्षा रिपोर्ट करेंगे पेश

राठौड़ ने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों द्वारा यह निर्णय लिया है कि एक समिति पिछली राज्य सरकार के अंतिम छह माह में लिए गए फैसलों की समीक्षा करेगी। यह समिति तीन माह में मुख्यमंत्री को अपनी समीक्षा रिपोर्ट सौंपेगी।

ये भी पढ़ें: अंटार्कटिका में मिला ये सफेद पेंगुइन, आखिर क्यों रेयर माना जाता है ये, आप भी जानें

हर माह 20 हजार रुपये पेंशन

उन्होंने बताया कि लोकतंत्र सेनानी सम्मान निधि 2008 को बहाल करने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा के लिए आंतरिक सुरक्षा रखरखाव अधिनियम (MISA) के तहत जेल गए लोगों को फिर से पेंशन मिलेगी। ऐसे लोगों को हर माह 20,000 रुपये पेंशन और 4,000 रुपये की मासिक चिकित्सा सहायता दी जाएगी।

450 रुपये में गैस सिलेंडर

राठौड़ ने बताया कि भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में 450 रुपये में रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध कराने का जो एलान किया था, उसे एक जनवरी से लागू कर दिया है। राज्य में 72.83 लाख परिवार हैं, जिनमें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से जुड़े तकरीबन 70 लाख परिवार शामिल हैं।

नीतिगत दस्तावेज के रूप स्वीकृति दी

मंत्रिपरिषद की बैठक में विधानसभा चुनाव 2023 में भाजपा के संकल्प पत्र को राज्य सरकार के नीतिगत दस्तावेज के रूप में स्वीकृति प्रदान की गई।साथ ही, संकल्प पत्र के क्रियान्वयन हेतु मुख्यमंत्री कार्यालय में विशेषाधिकारी की नियुक्ति का निर्णय लिया गया। बैठक में राजस्थान लोकतंत्र सेनानी सम्मान निधि-2008 को बहाल करने का निर्णय लिया गया। पूर्ववर्ती राज्य सरकार द्वारा इसे बंद कर दिया गया था,राज्य सरकार के प्रथम 30 दिवस की प्रमुख उपलब्धियों के संबंध में विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया गया। बैठक में आरएएस भर्ती परीक्षा की तिथि, गेहूं की फसल पर एमएसपी आदि जनहित से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस की न्याय यात्रा पर बोले CM हेमंत विस्वा बोले, यदि कांग्रेस की यात्रा शहर में से गुजरी तो मामला दर्ज करेंगे, और फिर…

सरकार के कार्यकाल की उपलब्धियां

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग

–  राजस्थान संकल्प पत्र -2023 में सभी गरीब परिवारों की महिलाओं को 450 रूपए में एलपीजी सिलेंडर प्रदान करने की पालना में रसोई गैस सिलेण्डर सब्सिडी योजना दिनांक 01.01.2024 से लागू की गई।

–   योजना में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के 69.27 लाख एवं 3.56 लाख चयनित बीपीएल सहित कुल 72.83 लाख परिवार पात्र हैं। प्रत्येक परिवार को माह में अधिकतम एक गैस सिलेण्डर पर सब्सिडी देय होगी।

स्वायत्त शासन विभाग एवं पंचायती राज विभाग

–  प्रदेश में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित श्री अन्नपूर्णा रसोई योजना में दिनांक 06.01.2024 से थाली में भोजन सामग्री की मात्रा 450 से बढ़ाकर 600 ग्राम प्रति थाली (300 ग्राम चपाती, 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 100 ग्राम चावल, मिलेट्स (श्री अन्न) खिचड़ी एवं अचार) किया तथा राजकीय अनुदान 17 रूपए से बढ़ाकर 22 रूपये प्रति थाली किया गया।

गृह विभाग

–   पेपर लीक की रोकथाम एवं इसके संबंध में दर्ज मामलों में त्वरित जांच व दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही किए जाने के लिए राज्य स्तर पर अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, तकनीकी सेवाएं के नेतृत्व में दिनांक 16.12.2023 को स्पेषल इन्वेस्टीगेषन टीम का गठन किया गया।

–  राज्य में संगठित अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण एवं अपराधियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई किये जाने हेतु दिनांक 16.12.2023 को एक विशेष कार्यदल एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स का गठन किया गया है।

–  केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को राज्य में अनुसंधान के लिए प्रत्येक मामले में राज्य सरकार की अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी। इस निर्णय से सीबीआई राज्य में भ्रष्टाचारियों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई कर सकेगी, इससे राज्य में भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी।

खान विभाग

–  राज्य में अवैध खनन/निर्गमन/भंडारण के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने हेतु खान विभाग, राजस्व, वन, पुलिस एवं परिवहन विभाग को सम्मिलित करते हुए समस्त जिलों में जिला कलक्टर्स की निगरानी में संयुक्त जांच दल गठित कर 15 जनवरी से 31 जनवरी 2024 तक अभियान चलाया जाएगा।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग तथा स्वायत्त शासन विभाग

– राजस्थान विकसित भारत संकल्प यात्रा में दिनांक 16.12.2023 से 17.01.2024 तक कुल 10,550 ग्राम पंचायत/शहरी स्थानों पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया।इन कार्यक्रमों में 2.54 करोड़ से अधिक नागरिकों सहित 1.77 लाख जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने उपस्थिति दर्ज कराई।

–  कैम्पों में 1.58 करोड़ से अधिक व्यक्तियों की स्वास्थ्य जांच की गई, जिनमें से 1.78 लाख जांचें सिकल सेल के लिए की गई हैं।

–  पीएम सुरक्षा बीमा योजना में 5.30 लाख से अधिक एवं पीएम जीवन ज्योति बीमा योजना में 2.91 लाख से अधिक व्यक्तियों का रजिस्ट्रेशन किया गया।

– 10 लाख से अधिक किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *