India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में लेडी डॉन की हुई एंट्री! शूटर को हथियार देने  और ठहराने वाली पूजा सैनी गिरफ्तार,AK–47 के भी सुराग मिले

जयपुर: राजस्थान में बहुचर्चित सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में अब एक लेडी डॉन की एंट्री हो गई है। जयपुर पुलिस ने गोगामेड़ी हत्याकांड के आरोप में पूजा सैनी को गिरफ्तार कर लिया है। पूजा सैनी मूल रूप से कोटा की निवासी है। उसका पति महेंद्र कुमार मेघवाल उर्फ समीर कोटा का हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ मारपीट, हत्या के प्रयास और अवैध हथियार तस्करी के कई मामले दर्ज है। पिछले डेढ़ साल से पूजा और महेंद्र जयपुर के जगतपुरा में फ्लैट किराए पर लेकर रह रहे थे।

नितिन फौजी को 7 दिन तक फ्लैट में रोका

एडिशनल पुलिस कमिश्नर कैलाश बिश्नोई ने बताया कि पूजा सैनी, पूजा बत्रा के नाम से जयपुर में रहती थी। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड का मुख्य आरोपी शूटर नितिन 28 नवंबर को दिल्ली से जयपुर आया था। जयपुर में प्रताप नगर चौपाटी तक पहुंचने के बाद महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर और उसकी पत्नी पूजा सैनी ने नितिन को अपनी कार में बैठाकर अपने फ्लैट पर ले गए। फौजी यहां 7 दिन तक प्रताप नगर स्थित पूजा सैनी के फ्लैट में रुका। पूजा और महेंद्र मेघवाल ने ही नितिन फौजी को हथियार उपलब्ध कराए था।

शूटर्स को पिस्टल और नोटों की गड्डियां दी 

28 नवंबर से लेकर 5 दिसंबर तक नितिन फौजी महेंद्र और पूजा के साथ फ्लैट में रहा। महेंद्र अवैध हथियारों का बड़ा तस्कर है। वह लॉरेंस बिश्नोई गैंग के लिए काम करता है। वो रोहित गोदारा और वीरेंद्र चारण से संपर्क में था। 7 दिन के दौरान महेंद्र ने अपने मोबाइल से रोहित गोदारा और वीरेंद्र चारण से नितिन फौजी की कई बार बात करवाई थी। 5 दिसंबर की सुबह महेंद्र और पूजा ने नितिन फौजी को दो पिस्टल और दो मैगजीन दी। 50 हजार रुपए की गड्डी भी दी थी। हत्या के दिन 5 दिसंबर को महेंद्र अपनी कार से नितिन फौजी को डीसीएम तक लेकर गया जहां रोहित राठौड़ पहले से खड़ा मिला था। राठौड़ को कार में बैठाकर महेंद्र मेघवाल ने एक पिस्टल और एक मैगजीन दी। साथ ही उसे भी 50 हजार रुपए की गड्डी भी दी।

फ्लैट में मिली एके 47 की फोटो

पूजा और महेंद्र के फ्लेट में पुलिस को एक 47 की बड़ी फोटो मिली है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार एक साल पहले जब सीकर में राजू ठेहट की हत्या की गई थी। तब आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि हत्या के लिए एके 47 मंगवाई गई है। यह एके 47 महेंद्र की ओर से लाई गई थी, लेकिन शूटर्स ने पिस्टल से ही राजू ठेहट की हत्या की थी। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या भी पिस्टल से ही की गई।

पूजा अरेस्ट, महेंद्र हथियार लेकर फरार

एडिशनल पुलिस कमिश्नर कैलाश बिश्नोई ने बताया कि दो दिन पहले पुलिस टीम को पता चला कि शूटर नितिन फौजी जयपुर के जगतपुरा स्थित किसी फ्लैट में रुका था। पुलिस की टीम ने दो दिन तक डोर टू डोर सर्वे करके नितिन फौजी के ठिकाने का पता लगाया। बाद में पुलिस जगतपुरा के इनकम टैक्स कॉलोनी के हाइड आउट फ्लैट नंबर 48 तक पहुंची जहां नितिन फौजी रुका हुआ था। इस फ्लैट से पूजा सैनी को गिरफ्तार किया, लेकिन उसका पति महेंद्र हथियार लेकर फरार हो गया जिसकी तलाश की जा रही है।

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *