India News24

indianews24
Search
Close this search box.

Follow Us:

Loksabha elections 2024: चुनाव से पहले ही ममता बनर्जी ने कांग्रेस तोड़ा नाता, बंगाल में TMC अकेले लड़ेगी लोकसभा का चुनाव, सीट शेयरिंग का है मामला

नई दिल्ली. India alliance breaks:2024 के लोकसभा चुनाव भाजपा और PM नरेंद्र मोदी को हराने के लिए बनाए इंडिया गठबंधन को ममता बनर्जी ने तगड़ा झटका दिया हैं। बुधवार को मीडिया से बात करते हुए ममता बनर्जी ने इंडिया गठबंधन से अलग होने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने कांग्रेस को चुनाव को लेकर कई सुझाव दिया था, लेकिन मेरे प्रस्ताव को उन्होंने ठुकरा दिया। इसलिए बंगाल में हम अकेले ही चुनाव लड़ेगे। गौरतलब है कि बार-बार समय निकल जाने के बावजूद सीट शेयरिंग नहीं किए जाने से तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी कांग्रेस से नाराज चल रही थी। समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए टीएमसी के एक बड़े नेता ने कहा कि पार्टी ने राज्य की सभी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें: मल्लिकार्जुन खडगे ने कहा, कांग्रेस को नहीं है हिमंत सरकार पर भरोसा, अमित शाह को पत्र लिख मांगी राहुल के लिए सुरक्षा

ममता बंगाल में कांग्रेस को दो से ज्यादा सीटें देने के मूड में नहीं

कई दिनों से ये बात सामने आ रही है कि ममता बनर्जी बंगाल में कांग्रेस को दो से ज्यादा सीटें देने के मूड में नहीं हैं। वहीं, कांग्रेस 10-12 सीटों की मांग कर रही है। टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘हमारी पार्टी सुप्रीमो ने साफ कर दिया है कि हमें कांग्रेस के साथ सीट शेयरिंग पर बातचीत के बारे में सोचने की जरूरत नहीं है।

कांग्रेस की न्याय यात्रा में भी शामिल नहीं होंगी ममता

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी की तरफ से निकाले जा रहे भारत जोड़ो न्याय यात्रा में पहले ममता बनर्जी शामिल होने वाली थी, लेकिन कांग्रेस के रवैये से नाराज वह अब यात्रा में भी शामिल नहीं होंगी। मंगलवार को टीएमसी नेता ने साफ किया कि पार्टी असम में कांग्रेस की न्याय यात्रा में शामिल नहीं होगी। एजेंसी के अनुसार, टीएमसी के एक नेता का कहना है कि सीट शेयरिंग पर पहले बातचीत होना जरूरी है। खास बात है कि कांग्रेस की न्याय यात्रा असम के बाद पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ेगी और 25 जनवरी को कूच बिहार पहुंच सकती है।

फारुक अब्दुल्ला भी चल रहे नाराज

यही नहीं सीट शेयरिंग के मुद्दे पर कांग्रेस के रवैये से जम्मू-कश्मीर की नेशनल कांफ्रेंस, उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी भी नाराज है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला ने वरिष्ठ वकील और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल के साथ बातचीत में कहा था कि अगर कांग्रेस जल्द सीट शेयरिंग के मुद्दे को नहीं सुलझाती है तो कई बड़े नेता गठबंधन छोड़ सकते हैं।

कांग्रेस ने अपनाया कड़ा रुख

इस पूरे मामले पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को कहा है कि ‘इस बार चुनाव ममता बनर्जी की दया पर नहीं लड़े जाएंगे। ममता बनर्जी जो दो सीटें छोड़ रही हैं, वहां कांग्रेस ने बीजेपी और टीएमसी को हराया है। कांग्रेस पार्टी जानती है कि चुनाव कैसे लड़ना है। ममता बनर्जी अवसरवादी हैं। वह साल 2011 में कांग्रेस की दया पर सत्ता में आईं थीं।’

indianews24
Author: indianews24

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *